ALL भीलवाड़ा हलचल प्रदेश हलचल देश हलचल चित्तौडग़ढ़ हलचल विदेश मध्यप्रदेश हलचल राजसमंद हलचल कारोबार मध्य प्रदेश राशिफल
बच्ची के अपहरण के आरोपित दंपती व सहयोगी का नहीं मिला कोई क्रिमिनल रेकार्ड, रिमांड खत्म, भेजा जेल
October 21, 2020 • Raj Kumar Mali

भीलवाड़ा हलचल। संतान सुख की चाह में एक तीन साल की बच्ची को अगवा करने के मामले में गिरफ्तार दंपती व सहयोगी का कोई क्रिमिनल रेकार्ड नहीं मिला। इस बीच, रिमांड खत्म होने पर तीनों आरोपितों को आज अदालत में पेश करने पर जेल भेज दिया गया।  
शंभुगढ़ थाना प्रभारी राजुराम काला ने बीएच को बताया कि आसींद इलाके का दंपती तीन साल की बेटी  के साथ 3 अक्टूबर को अपने गांव से आमेसर स्थित बंक्यारानी माता के दर्शन करने गया था। जहां से तीन साल की बालिका को अज्ञात लोगों ने अगवा कर लिया था। शंभुगढ़ पुलिस ने अपहरण की रिपोर्ट दर्ज की।  पुलिस ने  शुक्रवार रात जयपुर की भोजपुरा कच्ची बस्ती  से अगवा मासूम बच्ची को बरामद कर अपहरण के आरोप में निसंतान दंपत्ती राकेश कुमार उर्फ  राहुल पुत्र मांगीलाल गुर्जर निवासी लांबा की ढाणी सिरोही हाल भोजपुरा कच्ची बस्ती, जयपुर, इसकी पत्नी सुमन उर्फ  मंजू निवासी चौखी ढाणी, दौसा व बांसखोरी, बस्सी, जयपुर निवासी राजू उर्फ  राकेश बैरवा पुत्र रामफल बैरवा को गिरफ्तार किया था। इन तीनों को पुलिस ने पूछताछ, मौका तस्दीक और वाहनों की बरामदगी के लिए रिमांड पर लिया था। बुधवार को रिमांड खत्म होने पर तीनों को जेल भेज दिया गया। 
थाना प्रभारी काला ने बीएच को बताया कि आरोपित दंपती व सहयोगी का संबंधित थानों व जिलों की पुलिस से आपराधिक रेकार्ड मांगा गया, लेकिन तीनों के खिलाफ पूर्व में कोई क्रिमिनल केस दर्ज होने की बात सामने नहीं आई। अब तक की पूछताछ में यह सामने आया कि राकेश उर्फ राहुल व सुमन उर्फ मंजू ने दस साल पहले प्रेम विवाह किया था। लेकिन अब तक इस दंपती को कोई संतान प्राप्ति नहीं हुई। आठवीं-नौंवीं तक पढ़े लिखे दंपती ने संतान प्राप्ति के लिए मंदिर से मासूम बच्ची को अगवा कर लिया था। फिल्हाल पुलिस टैक्निकल तरीके से मामले की जांच जारी रखे है।