ALL भीलवाड़ा हलचल प्रदेश हलचल देश हलचल चित्तौडग़ढ़ हलचल विदेश मध्यप्रदेश हलचल राजसमंद हलचल कारोबार मध्य प्रदेश राशिफल
भारत में पहले किसे मिले कोरोना की वैक्सीन, सरकार ने बना ली है यह लिस्ट!
November 7, 2020 • Raj Kumar Mali • देश हलचल

कोरोना वायरस वैक्‍सीन अगले साल की शुरुआत में उपलब्‍ध हो सकती है। भारत बायोटेक (Bharat Biotech) ने अपनी वैक्‍सीन- Covaxin को फरवरी में लॉन्‍च करने की बात कही है। यह भारत में उपलब्‍ध होने वाली पहली कोरोना वैक्‍सीन हो सकती है। ऐसे में केंद्र सरकार ने वैक्‍सीन डिस्‍ट्रीब्‍यूशन की तैयारियां तेज कर दी हैं। प्रॉयरिटी ग्रुप्‍स तय किए गए हैं जिन्‍हें पहले वैक्‍सीन दी जाएगी, वह भी मुफ्त में। केंद्र ने राज्‍य सरकारों ने इन ग्रुप्‍स की पहचान करने को कहा था। केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री हर्षवर्धन भी कह चुके हैं शुरुआत में 30 करोड़ भारतीयों को टीका लगेगा। सरकार ने मुख्‍य रूप से इन भारतीयों को चार कैटेगरीज में बांटा है।

पहले ग्रुप में एक करोड़ हेल्‍थ प्रफेशनल्‍स

डॉक्‍टर्स, नर्सेज, पैरामेडिक्‍स स्‍टाफ और आशा वर्कर्स के अलावा एमबीबीएस डॉक्‍टर्स भी इस ग्रुप का हिस्‍सा होंगे। इन्‍हें सबसे पहले कोविड का टीका लगेगा।

फिर दो करोड़ फ्रंटलाइन वर्कर्स को मिलेगी वैक्‍सीन

प्रॉयरिटी लिस्‍ट में दूसरा ग्रुप उन लोगों का है जो महामारी के दौरान भी व्‍यवस्‍था संभाल रहे हैं। इनमें नगर निकायों के कर्मचारियों के अलावा पुलिस और सशस्‍त्र बल शामिल हैं।

तीसरे ग्रुप में 26 करोड़ लोग

यह 26 करोड़ लोग वो हैं जिनकी आबादी 50 साल से ज्‍यादा है। इन्‍हें कोरोना संक्रमण का ज्‍यादा खतरा है, ऐसे में इन्‍हें पहले टीका लगाना जरूरी हो जाता है।

स्‍पेशल कैटेगरी में हैं एक करोड़ लोग

प्रॉयरिटी लिस्‍ट में एक करोड़ लोग ऐसे भी होंगे जिनकी उम्र तो 50 साल से कम होगी मगर उन्‍हें कोई और बीमारी होगी। कोरोना मामलों में देखा गया है कि अन्‍य बीमारियों से ग्रस्‍त लोगों को जान का खतरा ज्‍यादा होता है। ऐसे में उन्‍हें पहले वैक्‍सीन देकर महामारी से बचाने की कोशिश होगी।

कहां-कहां लगेगा कोरोना का टीका?​​

सरकार सार्वभौमिक टीकाकरण कार्यक्रम (Universal Immunisation Programme) के साथ-साथ कोरोना टीकाकरण अभियान चलाएगी। कोरोना वैक्‍सीन के लिए eVIN प्‍लेटफॉर्म का भी यूज होगा। केंद्र ने राज्‍य सरकारों ने उन इमारतों की लिस्‍ट तैयार करने को कहा है जहां टीकाकरण केंद्र बनाए जा सकते हैं। इनमें सिर्फ हेल्‍थकेयर फैसिलिटीज ही शामिल नहीं होंगी। स्‍कूलों, पंचायती इमारतों और आंगनबाड़ी केंद्र की बिल्डिंग का इस्‍तेमाल की कोविड टीकाकरण के लिए हो सकता है।