ALL भीलवाड़ा हलचल प्रदेश हलचल देश हलचल चित्तौडग़ढ़ हलचल विदेश मध्यप्रदेश हलचल राजसमंद हलचल कारोबार मध्य प्रदेश राशिफल
भारी गिरावट के बाद सोने में लौटी तेजी, ये रहे MCX पर दाम
November 11, 2020 • Raj Kumar Mali • देश हलचल

 

नई दि‍ल्‍ली । निवेशकों का सोने के प्रति जबरदस्त रुझान बना हुआ है। इसको सोमवार और मंगलवार के वायदा बाजार से समझा जा सकता है। अमेरिकी दवा कंपनी फाइजर की कोरोना वैक्सीन के 90 फीसदी तक सटीक नतीजे आने की खबर के बाद सोने के दामों में सोमवार को जोरदार गिरावट देखी गई। मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज में सोने का दिसंबर आपूर्ति वाला अनुबंध 2,500 रुपये प्रति दस ग्राम तक फिसलकर 49,500 रुपये तक पहुंच गया था लेकिन फिर से मंगलवार को 836 रुपये बढ़कर 50,584 प्रति दस ग्राम पर पहुंच गया। इस तरह भारी गिरावट आने के बाद भी अधिकांश निवेशकों के हाथ में सोना नहीं आ पाया।

चांदी में भी जबरदस्त तेजी दर्ज की गई। वायदा कारोबार में चांदी मजबूत मांग के चलते 1,684 रुपए बढ़कर 62,538 रुपए प्रति किलोग्राम पर पहुंच गई। वहीं, एक दिन पहले 4,673 रुपये टूटकर 60,623 रुपये पर कारोबार के दौरान चला गया था। कमोडिटी विशेषज्ञों ने बताया कि कोरोना संकट के बीच बड़ी संख्या में लोगों ने सोने में सुरक्षित विकल्प के तौर पर निवेश किया है। ऐसे में कोरोना का वैक्सीन आने की खबर के साथ मुनाफावसूली हुई लेकिन सोना अभी भी पहले की तरह 49,500 के भाव पर मजबूती है। जबतक ये स्तर नहीं टूटेगा तो बहुत बड़ी गिरावट नहीं आएगी। इसलिए सोने में गिरावट के बाद तेजी से रिकवरी आई है। निवेशकों को गिरावट पर सोना खरीदना चाहिए। सोने से निवेशकों को अगले छह महीने से साल भर में 15 से 20 फीसदी का रिटर्न मिल सकता है।

सर्राफा बाजार में सोने-चांदी टूटे

दिल्ली सर्राफा बाजार में मंगलवार को सोना 662 रुपये टूटकर 50,338 रुपये प्रति 10 ग्राम पर आ गया। एचडीएफसी सिक्योरिटीज ने यह जानकारी दी। पिछले कारोबारी सत्र में सोना 51,000 रुपये प्रति 10 ग्राम पर बंद हुआ था। इसी तरह चांदी भी 1,431 रुपये के नुकसान से 62,217 रुपये प्रति किलोग्राम पर आ गई। पिछले कारोबारी सत्र में चांदी 63,648 रुपये प्रति किलोग्राम पर बंद हुई थी। एचडीएफसी सिक्योरिटीज के वरिष्ठ विश्लेषक (जिंस) तपन पटेल ने कहा, भारत में सोने की कीमतों में 'करेक्शन से धनतेरस से पहले इसकी त्योहारी खरीद बढ़ सकती है। अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोना बढ़त के साथ 1,886 डॉलर प्रति औंस पर था। वहीं चांदी 24.31 डॉलर प्रति औंस पर स्थिर थी। मोतीलाल ओसवाल फाइनेंशियल सर्बिसेजे के उपाध्यक्ष (जिंस बाजार अनुसंधान) नवनीत दमानी की राय में सोमें यह गिरावट शेयर बांड जैसी ज्यादा जोखिम भरी सम्पत्तियों की ओर निवेशकों का झुकाव अचानक बढने से है। यह झुकाव अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव में जो बाइडन की जीत के साथ साथ कोविड19 की वैक्सीन के विकास में फाइजर की सफलता की अप्रत्याशित घोषणा से है। उनकी राय में सोना अभी 49,600-50,900 के दायरे में रह सकता है।

गोल्ड ईटीएफ में 35 फीसदी घटा निवेश

गोल्ड एक्सचेंज ट्रेडेड फंड (ईटीएफ) में अक्तूबर महीने में इसमें लोगों ने 384.2 करोड़ रुपये का निवेश किया। यह सितंबर महीने के मुकाबले 35 फीसदी कम है। एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड्स इन इंडिया (एएमएफआई) के डेटा से यह जानकारी मिली है। विशेषज्ञों का कहना है कि कोरोना संकट टल जाने के बाद निवेशक एक बार फिर से सीधे शेयर बाजार में पैसा लगा रहे हैं। इसके चलते निवेशक घटा है। गोल्ड ईटीएफ में 992 करोड़ का निवेश जुलाई में, 908 करोड़ का अगस्त में और 597 करोड़ का निवेश सितंबर महीने में हुआ था। वहीं, इस साल अब तक कुल 6,341.2 करोड़ रुपए का निवेश आया है।

एमसीएक्स बुलडेक्स पर रिकॉर्ड 652 करोड़ का करोबार

मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज ऑफ इंडिया (एमसीएक्स) के (बुलियन इंडेक्स) बुलडेक्स पर सोमवार को एक दिन में रिकॉर्ड 652 करोड़ रुपये का कारोबार हुआ। 24 अगस्त को एमसीएक्स ने सोने-चांदी के रियल टाइम कारोबार करने के लिए बुलडेक्स को शुरू किया था। इस इंडेक्स पर सोने का भार 70.52 फीसदी और शेष 29.48 प्रतिशत चांदी का है। सोमवार को सोने-चांदी में बड़ा उतार-चढ़ाव आने से रिकॉर्ड कारोबार हुआ। पिछले महीने इस इंडेक्स पर 6139.73 करोड़ रुपये का कारोबार हुआ था।