ALL भीलवाड़ा हलचल प्रदेश हलचल देश हलचल चित्तौडग़ढ़ हलचल विदेश मध्यप्रदेश हलचल राजसमंद हलचल कारोबार मध्य प्रदेश राशिफल
चीन ने विदेशी नागरिकों के प्रवेश पर लगाई गई रोक
November 6, 2020 • Raj Kumar Mali • देश हलचल

नई दिल्ली बीजिंग। चीन ने कोविड-19 महामारी का हवाला देते हुए वैध वीजा धारकों और आवासीय परमिट वाले भारतीयों समेत विदेशी नागरिकों का भी भारत से प्रवेश अस्थायी रूप से निलंबित कर दिया है। चीनी दूतावास ने गुरुवार को कहा कि यह रोक अस्थायी है क्योंकि चीन को महामारी से निपटने के लिए इस तरह के कदम उठाने होंगे। 

चीनी दूतावास ने एक नोट में कहा, कोविड-19 महामारी की वजह से घोषणा की जाती है कि चीन ने वैध वीजा या स्थायी निवास परमिट रखने वाले विदेशी नागरिकों का देश में भारत से प्रवेश अस्थायी रूप से निलंबित कर दिया है। दूतावास की वेबसाइट पर पोस्ट किए गए नोट में स्पष्ट किया गया है कि जिन विदेशियों के पास राजनयिक, सेवा और सी श्रेणी का वीजा है, वे प्रभावित नहीं होंगे। दूतावास ने कहा कि निलंबन अस्थायी कदम है जो मौजूदा महामारी से निपटने के लिए चीन ने अपनाया है।

भारत ने कहा, हम चीन के संपर्क में : 
भारत सहित कुछ अन्य देशों के यात्रियों पर चीन द्वारा प्रतिबंध के बावजूद भारत सरकार जरूरी मकसद से चीन जाने और चीन से आने वाले भारतीयों की यात्रा को सुविधाजनक बनाने का प्रयास कर रही है। सूत्रों ने कहा आवश्यक यात्रा को सुविधाजनक बनाने के लिए भारत सरकार चीनी पक्ष के संपर्क में है। सूत्रों ने कहा, चीनी दूतावास द्वारा की गई घोषणा से संकेत मिलता है कि ये उपाय एक अस्थायी कार्रवाई है और इसमे समय पर बदलाव की उम्मीद की जा सकती है।

सूत्रों ने कहा, चीन का फैसला केवल मौजूदा वीजा को अस्थायी रूप से निलंबित करने के लिए है। जैसा कि नोटिस इंगित करता है, भविष्य के वीजा अनुप्रयोगों पर प्रतिबंध नहीं लगाया गया है। तीन नवंबर के बाद जारी वीजा चीन की यात्रा के लिए वैध है। सूत्रों ने कहा, चीन द्वारा उठाये गए कदम केवल भारत के लिए नहीं है। कई अन्य देशों के संबंध में इसी तरह के उपायों की घोषणा की गई है। सूत्रों के मुताबिक भारत को लगता है कि मौजूदा फैसला सर्दियों की वजह से कोविड 19 मामलों में संभावित वृद्धि को लेकर चीनी चिंताओं को दर्शाता है।
2,000 भारतीय पेशेवरों को झटका :
चीन द्वारा भारत के लिए कई उड़ानों की योजना रद्द होने के बाद बीजिंग ने अस्थायी रूप से विदेशी नागरिकों द्वारा भारत में प्रवेश पर रोक लगाने का फैसला किया। इस फैसले से 2,000 भारतीय पेशेवरों की योजनाओं को झटका लगा है जो चीन के शहरों में काम करने की योजना बना रहे थे।