ALL भीलवाड़ा हलचल प्रदेश हलचल देश हलचल चित्तौडग़ढ़ हलचल विदेश मध्यप्रदेश हलचल राजसमंद हलचल कारोबार मध्य प्रदेश राशिफल
चोरी के पैसे बैंक में जमा कर अपने गुनाहों के लिए भगवान से माफी मांगता था चोर, गिरफ्तार
November 5, 2020 • Raj Kumar Mali • देश हलचल

सूरत
महाराष्ट्र के विदर्भ क्षेत्र के अमरावती से गिरफ्तार एक आदतन चोर कई बिजनसमैन के घरों में काम करके चोरी को अंजाम दे चुका है। आरोपी का नाम जयंतीलाल उर्फ कमलेश खेतमाल ओसवाल है जो सूरत के सिटी लाइट एरिया निवासी डाइंग मिल मालिक राधेश्याम गर्ग के घर से 6 लाख रुपये नकद चुराकर फरार हो गया था।

ओसवाल 20 अक्टूबर को चोरी के बाद राज्य परिवहन की बस से वापी पहुंचा, फिर वहां से नंदुरबार और फिर अमरावती गया। दिलचस्प बात यह थी कि उसने चोरी के पैसे का एक हिस्सा वापी में दो बैंक अकाउंट में जमा कर दिया जबकि 1.44 लाख रुपये अपने पाइल्स के इलाज के लिए रख लिए।

ऐसे दिया चोरी को अंजाम
क्राइम ब्रांच के एक पुलिस अधिकारी ने बताया, 'हमने उसे इलेक्ट्रॉनिक सर्विलांस के जरिए ट्रैक कर गिरफ्तार किया। आसानी से और तुरंत पैसे कमाने के लालच में उसे चोरी की लत लग गई।'

राधेश्याम गर्ग का घर ओसवाल का दसवां निशाना था जिसमें उसकी गिरफ्तारी हुई। पूछताछ में उसने बताया कि पहले उसने सारी के बीच में छिपी लॉकर की चाबी चुराई और फिर सेफ खोला। इसके बाद वह कैश लेकर फरार हो गया लेकिन जूलरी को हाथ नहीं लगाया।

चोरी के बाद मंदिर जाकर भगवान से मांगता था माफी
ओसवाल की अलग-अलग पुलिस थानों खासकर उमरा में गिरफ्तारी हो चुकी है। जांच में सामने आया कि हर चोरी के बाद ओसवाल मंदिर जाकर भगवान के अपने पापों के लिए माफी मांगता था। वह अहमदाबाद और दूसरी जगहों के मंदिर जाता था। कुछ मामलों में पुलिस ने मंदिरों के लॉकर से चुराये कीमती सामान जब्त किए।

फ्लाइओवर के नीचे भीख मांगकर बिताया लॉकडाउन
जयंतीलाल उर्फ कमलेश ओसवल पहले करोड़पति व्यापारियों के ड्राइवर से संपर्क बनाता था और फिर उनसे नौकरी के लिए पूछता था। अपनी मधुभाषी व्यवहार के कारण उसे अधिकतर जगहों में नौकरी मिल जाती थी। सात महीने तक जेल में रहने के बाद जयंतीलाल ने शहर में ही पूरा लॉकडाउन बिताया। इस दौरान उसे काम नहीं मिला और वह अनुव्रत द्वार के नीचे एक फ्लाइओवर में रहता था और भीख मांगकर गुजारा करता था।