ALL भीलवाड़ा हलचल प्रदेश हलचल देश हलचल चित्तौडग़ढ़ हलचल विदेश मध्यप्रदेश हलचल राजसमंद हलचल कारोबार मध्य प्रदेश राशिफल
गुर्जरों के बाद जाट समाज हुंकार भरने को तैयार, कल महापंचायत- बनेगी रणनीति
November 17, 2020 • Raj Kumar Mali • प्रदेश हलचल
 

जयपुर। प्रदेश में अभी गुर्जर आरक्षण आंदोलन का गर्माया मामला शांत हुआ ही है कि अब जाट समाज ने भी तेवर दिखाने शुरू कर दिए हैं। जाट समाज ने आरक्षण सहित अन्य मांगों के समर्थन में आन्दोलन की चेतावनी दे डाली है। सरकार से मांगे मनवाने की आगामी रणनीति बनाने के लिए कल 18 नवम्बर को भरतपुर के पथेना गांव में महापंचायत बुलाई गई है।

दरअसल, जाट समाज की नाराजगी और मांग लगभग गुर्जर समाज के सामान ही है। समाज सरकार से पूर्व में हुए समझौता वार्ता के वादों के अब तक पूरा नहीं होने से आक्रोशित है। ऐसे में अब आन्दोलन की चेतावनी दी जा रही है।

महापंचायत में बनेगी रणनीति
जाट समाज ने मांगों को मनवाने के लिए आन्दोलन के मूड में दिखाई दे रहा है। सरकार से दो-दो हाथ करने के लिए आगामी रणनीति बनाई जानी है। इसके लिए 18 नवंबर को महापंचायत बुलाई गई है। आगरा-जयपुर नेशनल हाइवे के पास पथेना गांव में बुलाई गई महापंचायत में जाट आरक्षण संघर्ष समिति के पदाधिकारी और समाज के वरिष्ठ लोगों को बुलाया गया है। वहीं गांव-गांव में पीले चावल बांटकर महापंचायत में ज़्यादा से ज़्यादा समाज के लोगों को शामिल होने के लिए न्यौता भी दिया गया है।

जाट नेताओं के अनुसार महापंचायत के बाद जल्द ही एक हुंकार रैली का आयोजन किया जाएगा जिसमें आंदोलन का बिगुल बजाया जाएगा।

ये है नाराजगी और मांग
भरतपुर-धौलपुर जाट आरक्षण संघर्ष समिति के संयोजक नेम सिंह फौजदार ने बताया है कि वर्ष 2017 में हुए जाट आंदोलन समझौता वार्ता के दौरान सरकार ने वादा किया था कि भरतपुर-धौलपुर जिलों के जाटों को ओबीसी वर्ग में केंद्र में आरक्षण दिलाने के लिए सिफारिश चिट्ठी लिखेगी व आन्दोलनकारियो पर लगे मुकदमों को वापस लिया जाएगा। साथ ही चयनित अभ्यर्थियों को नियुक्ति दी जाएगी। लेकिन दो वर्ष होने के बाद भी कोई भी वादा पूरा नहीं हो सका है।