ALL भीलवाड़ा हलचल प्रदेश हलचल देश हलचल चित्तौडग़ढ़ हलचल विदेश मध्यप्रदेश हलचल राजसमंद हलचल कारोबार मध्य प्रदेश राशिफल
कोरोना ने किया विवाह से जुड़े लोगों का धंधा मंदा
November 21, 2020 • Raj Kumar Mali • भीलवाड़ा हलचल

भीलवाड़ा (हलचल)। कोरोना काल में शादी समारोह से जुड़े लोगों का धंधा बुरी तरह से मंदा कर दिया है लेकिन अब जाकर उन्हें कुछ संबल मिला है। शादियों का दौर चलने से बेरोजगारी के दिन काट रहे लोग फिर काम मिलने से उत्साहित है लेकिन पहले की तरह धंधा नहीं होने से उनकी आर्थिक स्थिति गडग़ड़ाने लगी है।
 कोरोना संक्रमण के चलते नवम्बर से पहले के सभी सावों पर शादी समारोह लगभग स्थगित हो गये थे। कुछ लोग इस दौरान विवाह बंधन में बंधे थे लेकिन न बैण्ड, न घोड़ी नजर आये। हलवाई का काम भी न के बराबर हो गया। वहीं  समारोह का न्यौता देने के लिए जहां कंकुपत्रियां सैंकड़ों की संख्या में बिकती और छपती लेकिन आज इनकी संख्या पचास-सौ के आस पास रह गई है। वहीं छपवाने के बाद भी कंकुपत्रियां वाट्सअप के जरिए ही भेजी जा रही है। प्रिटिंग का काम करने वाले प्रहलाद मालवीय ने बताया कि शादी विवाह के सीजन में उन्हें कंकुपत्रियां छापने की उन्हें फुर्सत ही नहीं मिलती थी। रात दिन उन्हें काम करना पड़ता है लेकिन आज उन्हें ग्राहक का इंतजार करना पड़ रहा है। उनका कहना है कि कंकुपत्रियां ही नहीं बल्कि अन्य काम भी लगभग बन्द  से हो गये है।
घोड़ी, बैण्ड वालों के हालात भी काफी खराब हो गये है। छ: माह से कोई काम नहीं होने से घोड़ी को घास खिलाना भी महंगा पड़ रहा है। ऐसे ही कुछ बड़े हलवाई भी आर्थिक तंगी के शिकार हो गये। इसके चलते उन्होंने कमाई का दूसरा रास्ता अख्तियार किया है। भीलवाड़ा के एक नामचीन हलवाई ने तो मिठाई की दुकान लगा ली। पहले से नामचीन होने के कारण उसकी दुकान भी अ'छी चल पड़ी है। लेकिन छोटे मोटे हलवाईयों के सामने रोजी रोटी का संकट खड़ा हो गया। 
वहीं शादी विवाह समारोह टलने के कारण पिछले छ: माह में आभूषण सहित किराणा, कपड़े आदि से जुड़े कारोबारियों पर बुरा असर पड़ा है लेकिन अब फिर से इन्हें सम्बल मिला है। परन्तु सरकार द्वारा भोजन पर सौ से अधिक लोगों के नहीं शामिल होने के कारण हलवाईयों का कारोबार अब भी मंदा है।