ALL भीलवाड़ा हलचल प्रदेश हलचल देश हलचल चित्तौडग़ढ़ हलचल विदेश मध्यप्रदेश हलचल राजसमंद हलचल कारोबार मध्य प्रदेश राशिफल
लापरवाही बर्दाष्त नही होगी-जिला कलक्टर
November 11, 2020 • Raj Kumar Mali • चित्तौडग़ढ़ हलचल
 

  चित्तौडगढ। कोरोना संक्रमण को लेकर जिला कलक्ट्रेट के समिति कक्ष में निजी चिकित्सालयों के प्रबंधको/संचालाको की बैठक का आयोजन किया गया । 

                    बैठक में के. के. शर्मा जिला कलक्टर ने निजी चिकित्सालयो के प्रबंधको को हिदायत दी की वे नियमित सेम्पल लिया जाना सुनिष्चित करे। उन्होने बताया कि प्रत्येक चिकित्सा संस्थान में ओपीडी  में आने वाले आईएलआई व बुखार के रोगियो के सेम्पल अनिवार्यतः ले कर प्रयोगषाला में भिजवावे। उन्होने भर्ती मरीजो की सर्जरी पूर्व एंव प्रसव पूर्व अनिवार्यतः सेम्पलिंग पर जोर दिया।

                      कोविड 19 जैसी वैष्विक महामारी से निपटने के लिये सकारात्मक सहयोग अपेक्षित है। उन्होंने कहा कि निजी चिकित्सा संस्थानो में स्टॉफ मास्क को उपयोग करे। संस्थान में सेनेटाईजर का उपयोग किया जावे। चिकित्सा संस्थान में बिना मास्क पहने यदि कोई मरीज आता है तो चिकित्सा संस्थान का दायित्व है कि वे रोगी व उनके परिजनो को कपडे के मास्क एंव सेनेटाईजर उपलब्ध करावे। जिला कलक्टर ने निजी चिकित्सालयो को कोविड 19 के प्रोटोकोल की पालना सुनिष्चित करने पर बल दिया।  उन्होने कहा कि थर्मल स्केनर से टेम्परेचर लिया जाना सुनिष्चित करे।   

        जिला कलक्टर ने बताया कि कोविड 19 से निपटना सामुहिक जिम्मेदारी है। यह आमजन की लडाई है जिसमें सभी को अपना योगदान दिया जाना है। 

               मुख्य चिकित्सा एंव स्वास्थ्य अधिकारी डॉ रामकेष गुर्जर, ने प्रबंधको/संचालको को निर्देषित किया कि वे कोविड 19 गाईड लाईन का सख्ती से पालन करे अन्यथा नियमानुसार कार्यवाही अमल में लाई जावेगी। निजी चिकित्सालयो के प्रतिनिधियो को कोविड सेम्पल लेने सम्बन्धि प्रषिक्षण आयोजित किया जा चुका है, दैनिक रूप से कोविड सेम्पल लिया जाना सुनिश्चित करे। उन्होने शीघ्र जांच, शीघ्र उपचार पर बल देते हुए बताया कि जल्दी जांच ही बचाव का एक मात्र उपाय है। 

                     प्रमुख चिकित्सा अधिकारी डॉ दिनेष वैष्णव, ने चिकित्सालयो को निर्देषित किया कि निजी चिकित्सालय रोगियो को अपने चिकित्सा संस्थान में अधिक समय तक नही रोके तथा समय रहते रेफर किया जाना सुनिष्चित करे अन्यथा जनहानि होने पर चिकित्सालय के विरूद्व कार्यवाही की जावेगी। उन्होने बताया कि अति आवष्यक परिस्थिति में अर्थात सर्जरी हेतु सेम्पल के 12 घंटे में परिणाम दिये जाने  की व्यवस्था भी सुनिष्चित की गई है। उन्होने बताया कि अलक्षणात्मक व्यक्ति भी संक्रमित पाये जा रहे है। अतः आप सामान्य बुखार व लम्बे समय से बुखार से पिडित व्यक्तियो को तुरन्त सेम्पल ले कर भिजवाया जाना सुनिष्चित करे। 

                    बैठक में खुषवन्त कुमार हिण्डोनिया, जिला डाटा प्रबंधक आईडीएसपी ने कोविड 19 सेम्पल संचयन पूर्व आरटीपीसीआर एप पर पंजीकरण व ईन्द्राज  की प्रक्रिया से अवगत कराया। 

बैठक में शफीक ईकबाल शैख पीसीपीएनडीटी समन्वयक एंव राधाकृष्णा होस्पीटल, जैनानी होस्पीटल, बिरला होस्पीटल, अक्षर होस्पीटल, पंचमुखी हनुमान चिकित्सालय, पर्ल होस्पीटल, संजीवनी होस्पीटल, लढ्ढा क्लिनिक, मधु डायग्नोसिस, बक्षी होस्पीटल, मेहता मेटरनिटी होसपीटल, खब्या होस्पीटल के प्रतिनिधि उपस्थित रहै।