ALL भीलवाड़ा हलचल प्रदेश हलचल देश हलचल चित्तौडग़ढ़ हलचल विदेश मध्यप्रदेश हलचल राजसमंद हलचल कारोबार मध्य प्रदेश राशिफल
माफियाओं के आगे झुका जिला प्रशासन,चौकिया हटाई गई, माफिया को बजरी लूटने के लिए मिली छूट
November 2, 2020 • Raj Kumar Mali

 

जहाजपुर (हलचल)। कस्बे के चावंडिया चौराहे पर तत्कालीन जिला कलेक्टर द्वारा अवैध खनन एवं परिवहन को रोकने के लिए माइनिंग विभाग की चौकी एवं सीसीटीवी कैमरे लगाए गए थे। लेकिन अब लग रहा है कि जिला प्रशासन माफियाओं के आगे झुक गया है और अवैध खनन को रोकने के लिए अपनी हार मान चुका है।क्योंकि अवैध खनन के परिवहन को रोकने के लिए जिला प्रशासन द्वारा लगाए गए सीसीटीवी कैमरा एवं चौकी को हटा दिया गया है। और अवैध खनन करने वाले माफियाओं को जिला प्रशासन द्वारा अवैध परिवहन करने के लिए खुली छूट दे दी गई है। माइनिंग विभाग द्वारा चौकी हटा देने के बाद फिर से हौसले बुलंद हो चुके हैं दिनदहाड़े अवैध खनन कर परिवहन कार्य शुरू कर दिया है।माइनिंग विभाग से जब चौकी हटाने के बारे में जानकारी चाहिए तो अधिकारियों के पास फोन काटने के अलावा और कोई जवाब नहीं था।

  क्षेत्र मैं स्थित बनास नदी से अवैध खनन सुप्रीम कोर्ट की रोक होने के बावजूद भी मिलीभगत से हो रहा था। बनास नदी में कोर्ट का रोक का असर अधिकारियों की मिलीभगत होने से कहीं पर भी नजर नहीं आ रहा था। अधिकारियों से माफीओ की मिलीभगत होने के कारण माफिया के हौसले इस कदर बुलंद हो चुके हैं कि कानून को हाथ में लेने से भी डर नहीं रहे थे। आए दिन बजरी माफियाओं द्वारा अपराध की घटना को अंजाम देने के बाद क्षेत्र के ग्रामीणों की शिकायत के बाद जिला प्रशासन द्वारा अवैध खनन को रोकने के अभियान चलाया गया।फिर भी अवैध खनन में नहीं रुक पाया। बाद में अवैध खनन को रोकने के लिए चौकी लगाई गई उसके बावजूद भी अवैध खनन रुकने का नाम नहीं ले रहा था प्रशासन के तमाम प्रयास माफियाओं के आगे फेल हो रहे थे,लेकिन अब चौकी हटने के बाद लगने लगा है कि जिला प्रशासन भी माफियाओं के आगे फेल हो चुका है और अपनी हार मान चुका है अवैध खनन को रोकने के लिए सरकार एवं जिला प्रशासन द्वारा जिले में विशेष अभियान चलाया गया उसके बावजूद भी क्षेत्र में अवैध खनन नहीं रुक पाया है।

इनका कहना है

-खनिज विभाग के आसिफ मोहम्मद अंसारी से जब इस मामले में जानकारी चाहिए तो उन्होंने अपना फोन काट दिया क्योंकि इस मामले में उनके पास कोई जवाब नहीं था

- जहाजपुर तहसीलदार मुकुंद सिंह से इस मामले में बात की गई तो उनका कहना है कि मुझे इस मामले में कोई जानकारी नहीं है