ALL भीलवाड़ा हलचल प्रदेश हलचल देश हलचल चित्तौडग़ढ़ हलचल विदेश मध्यप्रदेश हलचल राजसमंद हलचल कारोबार मध्य प्रदेश राशिफल
ऑनलाइन होंगे इस नवराि‍त्र जोगणिया माता के दर्शन
October 16, 2020 • Raj Kumar Mali

भीलवाड़़ा (हलचल) । विश्वव्यापी कोरोना वायरस की महामारी कोविड-19 के संक्रमण, फैलाव को रोकने हेतु केंद्र व राज्य सरकार की गाइडलाइन व जिला प्रशासन के निर्देशानुसार आगामी नवरात्रा में जोगणिया माता के दर्शन व अन्य विविध धार्मिक कार्यक्रमों की ऑनलाइन व्यवस्था की गई है, जो आप भक्तजन घर बैठे ही मोबाइल , कम्प्यूटर या लैपटॉप पर "जोगणिया दर्शन" चेनल पर यूट्यूब व फेसबुक पर कर सकते हैं । जोगणियामाता शक्तिपीठ संस्थान के कार्यवाहक अध्यक्ष सत्यनारायण जोशी ने बताया कि जोगणियामाता में विविध धार्मिक अनुष्ठान प्रतिवर्ष के अनुसार ही होंगे परंतु जोगणियामाता का दर्शन हेतु मुख्य प्रवेशद्वार तत्कालीन स्तिथी अनुसार खुला या बंद रहेगा , ये अनिश्चित हैं । लेकिन दर्शनार्थियों के लिए माता के दर्शन-पूजन व विविध  कार्यक्रमों की ऑनलाइन व्यवस्था की गई है। भक्तजन घर बैठे ही इसका धर्म लाभ प्राप्त कर सकते हैं।  उन्होंने आगे बताया कि नवरात्रा स्थापना के अवसर पर 17 अक्टूबर शनिवार को दोपहर 12:15 बजे जोगणियामाता में नवरात्रा की घट स्थापना व प्रांगण में ध्वजारोहण होगा । जिसमें मुख्य अतिथि भानपुरा शंकराचार्य पीठ के स्वामी ज्ञानानंद तीर्थ , बानोड़ा बालाजी के पंडित कैलाशचंद्र शर्मा , महंत केशव दास व जोगणियामाता शक्तिपीठ  संस्थान के अध्यक्ष भँवरलाल जोशी , उपाध्यक्ष सूरजमल मीणा , सदस्यगण तथा गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहेंगे      प्रतिदिन दोपहर 1 से 2 बजे तक आसींद के महंत केशवदास जी रामायण आधारित प्रवचन व भानपुरा शंकराचार्यपीठ के जगतगुरु शंकराचार्य स्वामी ज्ञानानंदतीर्थ द्वारा देवीभागवत कथा  का वाचन प्रतिदिन सुबह 10 से 12 व साये 4 से 6 बजे होगा  , जबकि नवरात्रा के प्रथम दिन भागवत कथा शाम 5 से 6 तक होगी । जो भक्तजन दर्शन , आरती  , देवी भागवत कथा आदि का धर्मलाभ लेना चाहते हैं वो घर बैठे ही "जोगणियां दर्शन" चेनल के द्वारा यूट्यूब व फेसबुक पर लाइव दर्शन-पूजन कर सकते हैं । 
जोशी ने नवरात्र मेला के लिए बताया कि इस नवरात्रा में मेला नहीं भरेगा , यहां रामलीला , भजन संध्या इत्यादि कार्यक्रम नहीं होंगे । साथ ही बाहर से आने वाले मेले के दुकानदारों को जगह उपलब्ध नहीं होगी । जोगणियामाता क्षेत्र में रात्रि विश्राम की अनुमति नहीं  होगी । साथ ही  जोगणियामाता के दुकानदारों व यात्रियों को भी कोरोना कोविड-19 के प्रोटोकॉल की पालना करना अनिवार्य होगा