ALL भीलवाड़ा हलचल प्रदेश हलचल देश हलचल चित्तौडग़ढ़ हलचल विदेश मध्यप्रदेश हलचल राजसमंद हलचल कारोबार मध्य प्रदेश राशिफल
शाहपुरा में लापरवाही की हुई हद, चंबल परियोजना की लाइन से लाखों लीटर पानी बह रहा है व्यर्थ में
November 12, 2020 • Raj Kumar Mali • भीलवाड़ा हलचल
 

शाहपुरा-(मूलचन्द पेसवानी)।
शाहपुरा गुलाबपुरा रोड़ पर चंबल परियोजना की राईजिंग लाइन में पिछले चार दिनों से हो रहे जल रिसाव को रोकने के लिए कोई सुनवायी न होने के कारण लाखों लीटर पानी व्यर्थ बह रहा है। दूसरी ओर से उपभोक्ताओं को जल के लिए तरसना पड़ रहा है। एक तरफ राज्य सरकार की ओर से जल बचाने की अपील की जा रही है तथा विभागीय स्तर पर प्रयास किये जा रहे है, दूसरी तरफ शाहपुरा में लाखों लीटर पानी व्यर्थ बह रहा है। चंबल परियोजना के अधिकारियों को सूचित करने के बाद भी कोई सुनवायी न होने के कारण शाहपुरा में पर्याप्त पानी होने के बाद भी लोगों को दीपावली के इस दौर में पानी के अभाव में जीने को मजबूर होना पड़ रहा है।
जीव दया सेवा समिति संयोजक अत्तू खां कायमखानी ने बताया कि गुलाबपुरा रोड पर भारत गैस गौदाम के आगे चंबल परियोजना के लगे एयरवाल से पिछले चार दिनों से लाखों लीटर पानी व्यर्थ कर रहा है। कायमखानी ने बताया कि यहां से पानी बहकर अरनिया घोड़ा तक पहुंच रहा है, इसकी षिकायत चंबल परियोजना में करने के उपरांत भी तीन दिन तक मौका नहीं दिखाया गया जबकि इस लाइन की नियमित पेट्रोलिंग की व्यवस्था रिकार्ड के अनुसार होती है। अगर यह व्यवस्था है तो फिर कार्मिकों ने लाइन के लिकेज की सूचना क्यों नहीं दी तथा उसकी मरम्मत का कार्य क्यों नहीं किया गया है। इसी प्रकार शाहपुरा पंप से कनेछनकलां पंप हाउस तक के रास्ते में व कादीसहना क्षेत्र भी इसी प्रकार एयरवाल में लिकेज हो रहा है।
कायमखानी ने बताया कि एक तरफ सरकार पानी बचाने का जतन कर रही है दूसरी तरफ शाहपुरा में चंबल परियोजना के जुड़े अधिकारियों के कार्य न करने के कारण पानी व्यर्थ में बह रहा है। कायमखानी ने बताया कि परियोजना से जुड़े कार्मिकों की शह पर कतिपय प्रभावषाली लोगों के खेतों में पिलाई करने के लिए भी चंबल परियोजना की लाइन से जानबूझ कर लिकेज कराने की सूचनाएं आ रही है, इसकी अगले सप्ताह विडियोग्राफी कराने के साथ ही प्रतिवेदन तैयार कर मुख्यमंत्री कार्यालय को भिजवाया जायेगा।
जीव दया सेवा समिति के संयोजक अत्तू खां कायमखानी ने बताया कि शाहपुरा शहर में भी पिछले चार दिनों से चंबल परियोजना से जुड़े पाइप लाइनों से जलापूर्ति बाधित हो रही है। दीपावली पर एक तरफ घरों में सफाई कार्य चल रहा है दूसरी तरफ पानी न आने के कारण लोगों को भारी परेषानी का सामना करना पड़ रहा है। कोटड़ी रोड़ पर परियोजना की राइजिंग लाइन के चार दिन पूर्व क्षतिग्रस्त होने के बाद भी उसकी मरम्मत का कार्य नहीं हो पाया है। शाहपुरा शहर में मुख्य डाकघर के पास पाइप लाइन के खराब होकर ब्लास्ट होने की मरम्मत का कार्य दो दिन में भी पूरा न होने से उस क्षेत्र में भीलवाड़ा रोड़, ज्योतिनगर, गाडरी खेड़ा, गांधीपुरी व रामनगर में पिछले चार दिनों से जलापूर्ति नहीं हो पा रही है। गाडरी खेड़ा में नई लाइन डाल देने के उपरांत भी उसे नहीं जोड़ने के कारण कच्ची बस्ती के वाषिंदे पीने के पानी के लिए भटक रहे है। इसके अलावा शहर में कतिपय गलियों में नगर पालिका की सहमति से डाली जा रही चंबल परियोजना की लाइनों में राजनीतिक प्रभाव के चलते स्थान परिवर्तित कर देने के कारण भी वहां जलापूर्ति बाधित हो रही है।
कायमखानी ने भीलवाड़ा के जिला कलेक्टर षिवप्रसाद एम नकाते से कहा है कि भीलवाड़ा शहर का जिस प्रकार वो बाइक व साइकल पर दौरा कर वहां के लोगों को मूलभुत सुविधाओं की उपलब्धता के लिए कार्य कर राज्य सरकार की योजना के मुताबिक लोगों को लाभान्वित कर रहे है तो फिर शाहपुरा क्षेत्र में कौनसा अधिकारी बाइक व साइकल पर जनता की सुध लेने के लिए निकलेगा। कायमखानी ने अफसोस जताते हुए जिला कलेक्टर से कहा है कि स्थानीय अधिकारियों को छोड़ कर वो स्वयं ही एक बार रिसायत काल से महत्वपूर्ण शाहपुरा कस्बे का दौरा कर लेवे तो विभागों की पोल खुल जायेगी।