ALL भीलवाड़ा हलचल प्रदेश हलचल देश हलचल चित्तौडग़ढ़ हलचल विदेश मध्यप्रदेश हलचल राजसमंद हलचल कारोबार मध्य प्रदेश राशिफल
स्पेन ने मई तक इमरजेंसी लगाई, श्रीलंका ने पैसेंजर ट्रेनें बंद की
October 26, 2020 • Raj Kumar Mali

स्पेन ने कोविड.19 संक्रमण की नई लहर को नियंत्रित करने के लिए रात के वक़्त में कर्फ़्यू लगा दिया है और राष्ट्रीय आपातकाल की घोषणा कर दी है स्पेन के प्रधानमंत्री पेद्रो सांचेज़ ने कहा कि रात 11 बजे से अगली सुबह छह बजे तक कर्फ़्यू लागू रहेगा यानी लोगों के घर से बाहर निकलने पर रोक रहेगी.ये प्रतिबंध रविवार से लागू हो गए हैं. उधर श्रीलंका ने भी कोरोना के मामलों में बढ़ोत्तरी के मद्देनज़र सबसे ज्यादा भीड़ वालीं 16 पैसेंजर ट्रेनों को फ़िलहाल बंद कर दिया है  । 

 
स्पेन के प्रधानमंत्री पेद्रो सांचेज़ ने ये भी कहा कि आपातकाल के तहत स्थानीय प्रशासन विभिन्न क्षेत्रों में आने.जाने पर भी प्रतिबंध लगा सकते हैंण् उन्होंने कहा कि वो संसद से नए नियमों की समयावधि बढ़ाकर छह महीने करने के लिए कहेंगेए जो फिलहाल 15 दिन हैण् इस साल की शुरुआत में संक्रमण की पहली लहर के दौरान स्पेन में हालात बहुत चिंताजनक थेण् जिसे देखते हुए ज़्यादा कड़ा लॉकडाउन लगया गया थाए जो दुनिया के सबसे सख़्त लॉकडाउन में से एक था ।  

हालांकि दूसरे यूरोपीय क्षेत्रों की तरह ही स्पेन भी संक्रमण की दूसरी लहर की चपेट में आ गया हैण् इटली में भी रविवार से नए प्रतिबंधों की घोषणा हुईण् सरकार ने कहा कि मामलों में बढ़त की वजह से देश की स्वास्थ्य सेवाओं पर बहुत बोझ बढ़ा हैण् इस बीच फ्रांस में रिकॉर्ड मामले दर्ज किए गए हैंण् रविवार को 24 घंटे में वहाँ संक्रमण के कुल 52ए010 मामले सामने आएण् जबकि शनिवार को इस मुक़ाबले कम 45 हज़ार से कुछ ज़्यादा मामले दर्ज किए गए थे  । 

 
प्रधानमंत्री सांचेज़ ने कहा कि अलग.अलग क्षेत्र अगर रात के कर्फ़्यू के वक़्त में अपने हिसाब से कुछ बदलाव करना चाहते हैं तो वो इसे एक घंटे आगे.पीछे कर सकते हैंण् उन्होंने कहा कि एक ज़िले से दूसरे ज़िले में आने.जाने के प्रतिबंध क्षेत्रीय नेता तय करेंगे और हो सकता है कि सिर्फ काम या स्वास्थ्य संबंधी ज़रूरतों के लिए ही इजाज़त मिलेण् प्रधानमंत्री सांचेज़ ने रविवार को एक टीवी संबोधन में कहाए हम बहुत मुश्किल वक़्त से गुज़र रहे हैंण् पिछले 50 सालों में ये सबसे गंभीर हालात हैं । 

स्पेन के 17 क्षेत्रों में से आधे से ज़्यादा सख़्त प्रतिबंध लगाए जाने की मांग कर रहे थेए और ताज़ा प्रतिबंध कैनरी द्वीप को छोड़कर सभी क्षेत्रों पर लागू होंगेण् इससे पहले अप्रैल में महामारी की पहली लहर के दौरान ऐसा ही आपातकाल लगाया गया थाण् महामारी की शुरुआत से अबतक स्पेन में संक्रमण के मामले 10 लाख से पार हो गए हैं और क़रीब 35 हज़ार लोगों की मौत हुई है  । 

 
कोरोना वायरस संक्रमण के प्रसार के मद्देनजर बृहस्पतिवार को श्रीलंका के मुख्य मछली बाजार को बंद कर दिया गया और कई इलाकों में कर्फ्यू लगा दिया गयाण् इसके बाद रविवार को सरकार ने 16 पैसेंजर ट्रेन भी बंद करने का ऐलान कर दिया हैण् सरकार ने कोलंबो के कुछ हिस्सों में और राजधानी के बाहर के कुछ इलाकों में कर्फ्यू लगाया हैण् दरअसलए पश्चिमी प्रांत के कम से कम छह गांवों में इस महीने कोरोना वायरस संक्रमण के नये मामले सामने आये थे  । 

बता दें कि कोलंबो भी पश्चिमी प्रांत में ही पड़ता है स्वास्थ्य अधिकारियों ने 49 व्यापारियों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि होने के बाद देश के मुख्य मछली बाजार को अस्थायी रूप से बंद कर दिया हैण् कोलंबो के बाहरी इलाके में स्थित बाजार में सैकड़ों अन्य व्यापारियों के भी कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई हैण् देश में बृहस्पतिवार तक 2ए510 मामले एक वस्त्र फैक्टरी से संबद्ध रहे हैं और अधिकारियों ने पिछले दो महीनों में प्रथम सामुदायिक संक्रमण के रूप में इसकी पहचान की है । 

 
उधर इटली सोमवार से सिनेमाए स्विमिंग पूलए थिएटर और जिम बंद करने जा रहा हैण् बारए रेस्तरां और कैफे की सेवाएं शाम 6 बजे तक बंद करनी होंगीण् लेकिन दुकानें और ज़्यादातर कारोबार चालू रहेंगेण् इटली में नए प्रतिबंध प्रधानमंत्री ज्यूसेप कोंटे और क्षेत्रीय नेताओं की आपसी समहति से लगाए गए हैंण् इतालवी प्रधानमंत्री कोंटे ने रविवार को एक प्रेस वार्ता में कहाए हमें लगता है कि इस महीने हमें थोड़ी परेशानी उठानी होगी लेकिन इन प्रतिबंधों की वजह से थोड़ी परेशानी झेलकर हम दिसंबर में दोबारा सांस लेने की स्थिति में होंगे । 

प्रधानमंत्री ने कहा कि वो पहली लहर की वजह से मार्च और अप्रैल में लगाए लॉकडाउन की तरह दोबारा नेशनल लॉकडाउन नहीं लगाना चाहतेए क्योंकि तब बहुत आर्थिक नुक़सान हुआ थाण् नए प्रतिबंधों के तहत ज़्यादातर स्कूलों की पढ़ाई क्लासरूम के बजाए ऑनलाइन कराई जाएगीण् रविवार को इटली में एक दिन में रिकॉर्ड 21ए200 से ज़्यादा मामले दर्ज किए गएण् जबकि 128 लोगों की मौत हुई । 

 
बीते साल दिसंबर में चीन से शुरू हुई कोरोना वायरस महामारी ने दुनिया को लगभग रोक सा दिया थाण् लगभग सात महीने के अंतराल के बाद अब जब एक बार फिर चीज़ें सामान्य होने की ओर लौट रही हैं तो कोरोना वायरस की दूसरी लहर की आशंका से डर बढ़ गया हैण् दुनिया के कई देशों में कोरोना वायरस संक्रमण के नए मामलों की संख्या बढ़ी हैण् एहतियात बरतते हुए सरकारों ने जिन नियमों में कुछ हफ़्तों पहले ढील दी थी उन्हें एकबार फिर लागू कर दिया हैण् यूरोप में संक्रमण के नए मामलों में तेज़ी आयी हैए जिसके कारण नए दिशा.निर्देश जारी करते हुए प्रतिबंध लगाए गए हैंण् ;फोटो. ।थ्च्द्ध

 
बेल्जियम के स्वास्थ्य मंत्री ने चेतावनी देते हुए कहा है कि बेल्जियम में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले जल्दी ही चिंताजनक स्थिति में पहुंच सकते हैंण् सोमवार से बेल्जियम में नए प्रतिबंधों को लागू कर दिया गया हैण् सभी बार.रेस्त्रां को चार सप्ताह के लिए बंद रखने का आदेश जारी किया गया है 

चेक रिपब्लिक में स्थिति सबसे अधिक चिंताजनक हैण् पूरे महाद्वीप में कोरोना संक्रमण के नए मामलों की दर सबसे अधिक हैण् यहां पूरे देश में संपूर्ण लॉकडाउन लगाने पर विचार किया जा रहा हैण् आयरलैंड में बुधवार की मध्य रात्रि से छह सप्ताह के लिए कोरोनो वायरस को देखते हुए सख़्त प्रतिबंध लगाये जाने हैं. ।च

 
पोलैंड ने मार्च.अप्रैल में महामारी को बहुत अच्छे से संभाला था और अपने यहां इसे रोकने में कामयाबी पायी थीए जिसके लिए पोलैंड की काफी सराहना भी हुईण् लेकिन बीते सप्ताह पोलैंड में प्रतिदिन संक्रमण के दस हज़ार नए मामले सामने आए 

 
जर्मनी में सरकार ने संक्रमण के बढ़ते नए मामलों को देखते हुए इसके प्रसार को रोकने के लिएए सार्वजनिक इमारतों में वेंटिलेशन को बेहतर बनाने के लिए 452 मिलियन पाउंड का निवेश करने का फ़ैसला किया हैण् देश में संक्रमण के मामले बढ़ रहे हैं और शनिवार को यहां एक दिन में रिकॉर्ड मामले दर्ज किए गएण् चांसलर मर्केल ने लोगों से घरों पर ही रहने की अपील की है और इसके साथ ही बार.रेस्त्रां को जल्दी बंद करने का आदेश भी दिया गया हैण् बड़ी संख्या में लोगों के जमा होने पर प्रतिबंध लगा दिया गया हैण् हाई.रिस्क वाले देशों से लौटे लोगों के कोरोना टेस्ट को अनिवार्य कर दिया गया है .