ALL भीलवाड़ा हलचल प्रदेश हलचल देश हलचल चित्तौडग़ढ़ हलचल विदेश मध्यप्रदेश हलचल राजसमंद हलचल कारोबार मध्य प्रदेश राशिफल
titमूलभूत सुविधाओं से वंचित आटूणवासी, कब नसीब होगा चम्बल का पानी
October 18, 2020 • Raj Kumar Mali

आटूण (मदनलाल वैष्णव)। भीलवाड़ा शहर के नजदीकी गांव आटूण में कई सालों से पीने के पानी की समस्या है। मात्र एक हैण्डपम्प का ही सहारा है जिससे लोग प्यास बुझा रहे है। जब भी चुनाव  आते वोट पाने की चाहत में नेताजी गांववासियों को लोलीपोप दे जाते है और चुनाव जीतने के बाद नेताजी के दर्शन तक दुर्लभ हो जाते है।
आटूण को जब से मांडल विधानसभा क्षेत्र में शामिल किया गया तब से यहां के विकास पर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। जबकि मांडल के आस पास के गांवों में चम्बल परियोजना का जाल बिछा दिया गया है और लोगों को चम्बल का पानी सप्लाई हो रहा है। यहां तक कि गर्मी के मौसम में भी चम्बल के पानी से कहीं कहीं छोटे मोटे ताल तलैया हिलौरे लेते नजर आ जाते है। 
गांवों के विकास के लिए सरकार जहां लाखों करोड़ों रुपए खर्च कर रही है पर असल में देखा जाय तो स्थिति कुछ और ही नजर आती है। अभी भी गांवों में नालियों का पानी सड़क पर बहता है। नालियों की सफाई नहीं होने से नालियां सड़ांध मारती है और मच्छर पैदा हो रहे जो रात में लोगों की नींद हराम करने में लगे रहते है। आवारा पशुओं से किसान परेशान रहते है। खरी कमाई की फसल को आवारा पशु चौपट कर जाते है।
प्रधानमंत्री मोदी जी के खुले में शौच मुक्त भारत का सपना ग्रामीण स्तर पर पंचायतें अभी तक पूरा नहीं कर पा रही है। अभी भी गांवों में कई महिलाएं और पुरूष खुले में शौच करके गन्दगी फैला रहे है जो बीमारियों का घर बनी हुई है।